लैंडर से टूटा इसरो का संपर्क, अक्षय, अनुपम खेर सहित कई सितारों ने की चंद्रयान-2 की सफलता की कामना!

0
102

दोस्तों भारत इतिहास में नाम दर्ज करने जा रहा है। हर कोई इसकी सफलता पूवर्क लैंडिंग की कामना कर रहा है। बता दें कि चंद्रयान-2 शनिवार को चांद की सतह पर उतरेगा। हालांकि बीती रात ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का चांद पर उतरते समय इसरो से संपर्क टूट गया।

चांद की सतह से करीब 2.1 किलोमीटर ऊंचाई से पहले डैंलर से इसरो का संपर्क टूटा था। चंद्रयान-2 के बारे में अभी जानकारी का इंतजार है। बता दे की 978 करोड़ रुपये लागत वाले ‘चंद्रयान 2 मिशन में लगा है। डाटा का अध्ययन अभी जारी है। वहीं बॉलीवुड स्टार्स ने इस मिशन से आशा व्यक्त की और अपने प्रयासों के लिए इसरो की सराहना की।

अक्षय कुमार

बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने ट्विटर पर ‘चंद्रयान-2’ की सफलता के लिए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा-‘ हमारे देश को इतिहास बनाते देखना बहुत गौरवपूर्ण बात है। चंद्रयान-2 की सफलतापूर्वक लैंडिंग देखने का इंतजार कर रहा हूं।

अनुपम खेर

बॉलीवुड फिल्म जगत के जाने माने अभिनेता अनुपम खेर ने इसरो के प्रयास की सराहना की और बेहतरी के लिए उम्मीद जताई।उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा-‘आज पूरी दुनिया भारत के साथ है।’ उन्होंने इसरो की हौसलाअफजाई करते हुए लिखा-‘गिरते हैं शहसवार ही मैदान-ए-जंग में, वो तिफ्ल क्या गिरे जो घुटनों के बल चले! बहुत बढ़िया इसरो। हमें गर्व है।

रितेश देशमुख

बॉलीवुड अभिनेता रितेश देशमुख ने ट्वीट करते हुए कहा-‘ आज जो हासिल हुआ वह कोई छोटी उपलब्धि नहीं थी। अपने ट्वीट में रितेश देशमुख ने लिखा- ‘हम होंगे कामयाब! भविष्य उन लोगों का है जो अपने सपनों की सुंदरता में विश्वास करते हैं! हमें इसरो की पूरी टीम पर अविश्वसनीय रूप से गर्व है। आज जो कुछ हासिल हुआ वह कोई छोटी उपलब्धि नहीं थी।’

अनुभव सिन्हा

बॉलीवुड फिल्म जगत के जाने माने फिल्म निर्माता और फिल्म ‘आर्टिकल 15के निर्देशक अनुभव सिन्हा ने ट्वीट करते हुए लिखा-‘ मुझे उम्मीद है कि वे संचार को बहाल कर सकते हैं। मैं आशा करता हूं कि आगे और बेहतर होगा। वेल डन इसरो।’

साथ ही जाने माने लेखक और कवि प्रसून जोशी ने भारत के ‘चंद्रयान’ पर कविता ही लिख डाली। प्रसून की कविता….

चन्द्रयान की टीम ने देखो

कैसा अद्भुत काम किया
युगों युगों से सूत कातती
अम्मा को आराम दिया
यही चाँद माँगा करता था
मोटा एक झिंगोला
इसी चाँद का मुँह टेढ़ा था
यही था वो अलबेला

अब मैय्या से ज़िद ना करेंगे
बाल कृष्ण मुस्कुराएँगे
चन्द खिलौना हाथ में ले कर
लीला नयी रचाएँगे

और हम भी अब पास से जा कर
देखेंगे बस घूर के
और ना कहेंगे चन्दा को हम
चन्दा मामा दूर के