टीम इंडिया से 8 साल से बाहर चल रहे इस तेज़ गेंदबाज़ ने घरवालों को सोता छोड़ की थी आत्महत्या की कोशिश!

0
27

दोस्तों भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने अपनी लोकप्रियता और डिप्रेशन के बारे में खुलकर बात की है। एक समय अपनी रफ्तार से दुनिया के धाकड़ बल्लेबाजों के मन में खौफ पैदा करने वाले भारत के तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार भी इन्हीं खिलाड़ियों में से एक हैं, जो मानसिक परेशानी से जूझ रहे हैं।

टीम इंडिया से 8 साल से बाहर चल रहे इस तेज़ गेंदबाज़ ने घरवालों को सोता छोड़ की थी आत्महत्या की कोशिश! 1

खबर के अनुसार प्रवीण कुमार दो महीने पहले सुसाइड करने चले गए थे। प्रवीण को इंडिया की ओर से खेले हुए आठ साल हो गए हैं। टीम में वापसी ना कर पाने के कारण वे इतने अधिक अवसाद से घिर गए थे कि एक दिन उन्होंने अपनी जिंदगी खत्म करने का फैसला कर लिया था।

टीम इंडिया से 8 साल से बाहर चल रहे इस तेज़ गेंदबाज़ ने घरवालों को सोता छोड़ की थी आत्महत्या की कोशिश! 2

एक इंटरव्यू में बताया की प्रवीण कुमार ने कहा कि वह आत्महत्या करने के मकसद से रिवॉल्वर लेकर हरिद्वार जा रहे हाईवे पर निकल पड़े थे लेकिन कार में अपने बच्चों की तस्वीर देखकर उन्होंने अपना इरादा बदल लिया। कुमार ने कहा, ‘क्या है यह सब? बस खत्म करते हैं।’

टीम इंडिया से 8 साल से बाहर चल रहे इस तेज़ गेंदबाज़ ने घरवालों को सोता छोड़ की थी आत्महत्या की कोशिश! 3

उन्होंने कहा कि मुझे अहसास हुआ कि मेरे फूल जैसे बच्चे हैं, मैं ऐसा करके उन्हें नरक में नहीं डाल सकता। इसके बाद मैंने अपना इरादा बदल लिया। लेकिन अब प्रवीण ने थैरेपी लेनी शुरू की. अवसाद से बाहर निकलने के लिए इलाज शुरू किया और वह अभी भी दवाईयां ले रहे हैं। मगर अब वह मस्तमौला होकर जीना सीख गए हैं। बता दे की प्रवीण कुमार   ने भारत की ओर से 6 टेस्ट मैच, 68 वनडे और 10 टी20 मैच खेले हैं।’ मार्च 2012 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 मैच उनके इंटरनेशनल करियर का आखिरी मैच ‌था।’