कनिका कपूर ने टेस्ट पर उठाए थे सवाल, तीसरी बार भी आई पॉजिटिव रिपोर्ट!

0
394

बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर के फैंस के लिए बुरी खबर सामने आई है। पीजीआइ में भर्ती बॉलीवुड सिंगर कनिका को अभी वायरस से मुक्ति नहीं मिली है। उनकी रिपोर्ट तीसरी बार भी पॉजिटिव आई है। रिपोर्ट के मुताबिक कनिका कपूर के संपर्क में आए 266 लोगों में 60 व्यक्तियों का कोरोनावायरस टेस्ट नेगिटिव आया है।

कनिका कपूर ने टेस्ट पर उठाए थे सवाल, तीसरी बार भी आई पॉजिटिव रिपोर्ट! 9

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सिंगर कनिका कपूर के संपर्क में आए कुल 266 लोगों का पता लगाया गया, जिसमें से 60 लोगों का कोरोनावायरस टेस्ट नेगिटिव आया। शहर के चिकित्सा संस्थानों में कोरोना के संदिग्ध मरीजों की जांच जारी है। मंगलवार को शहर में कोई नया केस नहीं मिला।

कनिका कपूर ने टेस्ट पर उठाए थे सवाल, तीसरी बार भी आई पॉजिटिव रिपोर्ट! 10

इस पर अधिकारी विकासेंदू अग्रवाल ने कहा, “हमने कनिका कपूर के संपर्क में आए कुल 266 लोगों का टेस्ट किया, जिसमें कुछ नेता भी शामिल थे। इसमें से हमने 60 सैंपल टेस्ट किये, जो कि नेगिटिव आए। मुझे नहीं लगता कि अब हमें और लोगों का टेस्ट लेने कि जरूरत है, क्योंकि हमने पहले ही चारों पार्टियों के आयोजकों से बात की है। हमने उन सैलून और दुकानों का भी पता लगाया, जहां वह गई थीं। मुझे नहीं लगता कि अब इसमें और भी कुछ बाकी है। ”

कनिका कपूर ने टेस्ट पर उठाए थे सवाल, तीसरी बार भी आई पॉजिटिव रिपोर्ट! 11

विदेश से लौटे लोगों का घरों से सैंपल कलेक्शन किया जा रहा है। सीएमओ की टीम ने सोमवार को 25 सैंपल जांच के लिए केजीएमयू भेजे थे। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। ऐसे में शहर में चार दिनों से कोई पॉजिटिव मरीज नहीं मिला है। उधर, केजीएमयू में विभिन्न जिलों के कुल 51 सैंपल की जांच हुई। यहां शामली के एक 33 वर्षीय व्यक्ति में वायरस की पुष्टि हुई है। दूसरी ओर पीजीआइ में तीन सैंपल की जांच हुई। इसमें सिंगर कनिका की रिपोर्ट तीसरी बार पॉजिटिव आई है। उनमें संक्रमण का प्रकोप बना हुआ है। उनकी हालत स्थिर बनी हुई है।

कनिका कपूर ने टेस्ट पर उठाए थे सवाल, तीसरी बार भी आई पॉजिटिव रिपोर्ट! 12

पीजीआइ में भर्ती कोरोना पॉजिटिव बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर की देखभाल के लिए हर समय एक नर्स तैनात रहती है। चार-चार घंटे पर नर्सो की शिफ्ट बदलती है। यानी एक दिन में छह नर्सें ड्यूटी कर रही हैं। ये नर्सें ही उन्हें दवा खिलाती हैं और अन्य चीजों का ध्यान रखती हैं। ड्यूटी के समय नर्सो को जो पीपीई किट पहननी पड़ती है, उसे पहनने में ही काफी समय लगता है और ड्यूटी खत्म होने के बाद उतारने में अत्यंत सावधानी बरतनी पड़ती है, क्योंकि शरीर के किसी भी भाग से किट का बाहरी हिस्सा न छू जाए।