विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे!

0
58

दोस्तों बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता ऋषि कपूर 30 अप्रैल को इस दुनिया को अलविदा कह गए और अपने उनकी कई  यादें छड़ गए हैं। आज भी उनको याद कर कई फिल्म सितारे उनसे जुड़े कई तरह के किस्से शेयर करते रहते है ऐसे में  फिल्म जगत के फेमस अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने नवभारतटाइम्स डॉट कॉम से खास बातचीत में ऋषि कपूर को याद किया। विवेक ने बताया कि उनके पिता सुरेश ओबेरॉय के साथ ऋषि कपूर की दोस्ती थी, इस वजह से उन्हें बचपन से ही चिंटू अंकल का खूब प्यार और आशीर्वाद मिलता रहा है।

विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे! 1

विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे! 2

विवेक बताते हैं, चिंटू अंकल के साथ मेरे पिता जी की बहुत सालों से मित्रता थी। मुझे बहुत प्यार-आशीर्वाद देते थे। पापा बताते हैं जब भी सेट में चिंटू अंकल होते थे, माहौल बड़ा हंसी-मजाक वाला होता था। वह सतरंगी कलाकार थे। मुझे आज याद आता है, जब मैं बोर्डिंग स्कूल यानी मेयो कॉलेज में पढ़ाई कर रहा था, तब चिंटू अंकल अचानक मुझसे मिलने बोर्डिंग स्कूल आ गए थे। कुछ समय के लिए चिंटू अंकल भी मेयो कॉलेज-बोर्डिंग स्कूल में पढ़ाई कर चुके थे, तो उनकी अपनी यादें भी थीं।’

विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे! 3
‘एक बार चिंटू अंकल जयपुर में पापा के साथ किसी फिल्म की शूटिंग कर रहे थे, जयपुर से मेयो कॉलेज नजदीक है, तो उन्होंने पापा से कहा कि चलो विवेक से मिलकर आते हैं, शूटिंग की जगह से विवेक का कॉलेज करीब है। यह उनका प्यार था मेरे लिए, जो वह मुझसे मिलने अचानक आ गए और पूरे स्कूल में खलबली मच गई। अब चूंकि वह मुझसे मिलने आए थे, इसलिए मैं तो स्कूल का हीरो बन गया था।’

विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे! 4
‘पूरे स्कूल के टीचर, बच्चे और प्रिंसिपल सब लोग बाहर आ गए ऋषि कपूरजी को देखने, जबकि मेयो कॉलेज अपनी मान-मर्यादा और डिसिप्लिन के लिए जाना जाता है, लेकिन उस दिन सबने नियम कायदे तोड़ दिए। उस दिन पूरा स्कूल एक अलग उत्सव मनाने में जुट गया। मुझे उन्होंने एक-एक जगह दिखाई कि वह कहां रहते थे, कौन सी क्लास में पढ़ते थे, वह अपने कॉलेज के दिनों की यादें मुझसे साझा कर रहे थे और मैं आज आपके साथ उनकी यादें शेयर कर रहा हूं।’

विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे! 5

विवेक ने आगे बताया की ‘जब मैं बड़ा हुआ और फिल्म कंपनी रिलीज़ हुई तो फिल्म देखने के बाद उन्होंने मुझे कॉल किया, मेरे काम की जमकर तारीफ की और घर बुलाया। घर पहुंचा तो खूब प्यार बरसाया और ब्लेसिंग्स दीं।’ ‘एक समय वह भी था, जब मेरी कुछ फिल्में फ्लॉप हो गई थीं, तो मैं उदास था, इसी समय चिंटू अंकल से मिला तो उन्होंने मुझे कहा कि ऐक्टर कभी फ्लॉप नहीं होता, फिल्में फ्लॉप होती हैं। फिल्म ऐक्टर की कोशिश होती है, कुछ कोशिशें नाकाम हो जाती हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। फर्क तो तब पड़ेगा, जब ऐक्टिंग के काम में लापरवाही करोगे, मेहनत नहीं करोगे, अभिनय में जान नहीं डालोगे। जब तक ऐक्टर के अंदर कॉन्फिडेंस है, वह कतई फ्लॉप नहीं है।’

विवेक ओबेरॉय ने ऋषि कपूर को याद करते हुए बताया की जब बिना बताये ऋषि उनसे मिलने स्कूल पहुँच गए थे! 6
विवेक ओबेरॉय पिछले 18 सालों कैंसर जैसी बेहद गंभीर बीमारी की जागरूकता और कैंसर पीड़ितों का इलाज करवाने वाली संस्था CPAA के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इन दिनों दुनिया भर में कोरोना की महामारी के कारण विवेक के सामने दोहरी चुनौती आ गई है। लॉकडाउन का समय है, ऐसे में तमाम कैंसर से पीड़ित मरीजों की देख-रेख और इलाज के लिए पैसे की आवश्यकता है और वह लोगों से पीड़ित बच्चों-बच्चियों के लिए मदद मांग रहे हैं।