लम्बी बीमारी और बेरोज़गारी से डिप्रेशन के बाद टीवी एक्टर शरदूल कुणाल पंडित ने छोड़ी मुंबई!

0
26

दोस्तों टीवी से फ़िल्मों में अपनी अलग पहचान बनाने वाले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद कई कलाकारों की दुःख भरी कहानी सामने आई हैं, जो अपने करियर के किसी ना किसी पड़ाव पर डिप्रेशन से जूझे हैं या जूझ रहे हैं।  हाल ही में टीवी एक्टर शरदूल कुणाल पंडित ऐसे ही हालात से गुज़रने के बाद इंदौर अपने घर लौट गये हैं।

लम्बी बीमारी और बेरोज़गारी से डिप्रेशन के बाद टीवी एक्टर शरदूल कुणाल पंडित ने छोड़ी मुंबई! 7

हाल ही में एक वेबसाइट को दिए अपने एक इंटरव्यू में शरदूल ने बताया कि स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के चलते वो आठ महीनों से बेरोज़गार चल रहे थे। शरदूल ने कहा कि लगभग एक साल से वो ठीक नहीं हैं। तीन बार जॉन्डिस वापस आ चुका है। इसकी वजह से रिएलिटी शो मुझसे शादी करोगे छोड़ना पड़ा। लॉकडाउन से पहले मुझे एक वेब सीरीज़ ऑफ़र हुई थी, लेकिन अब पता नहीं उसको लेकर क्या चल रहा है। तीन महीनों से मुझे पैसों की किल्लत होने लगी और मेरी बचत ख़त्म हो गयी हैं।

 

View this post on Instagram

 

#compassion is the key #mentalhealth

A post shared by KUNAL PANDIT (Shardool Pandit) (@kunalogy) on

लम्बी बीमारी और बेरोज़गारी से डिप्रेशन के बाद टीवी एक्टर शरदूल कुणाल पंडित ने छोड़ी मुंबई! 8

बता दे की शरदूल ने बताया कि काम की कमी और ख़राब सेहत की वजह से वो अवसाद में जाने लगे थे। कई दोस्त छोड़कर चले गये। पिछले साल नवंबर में मैंने एक थिरेपिस्ट को दिखाया। करण पटेल और अंकिता भार्गव जैसे दोस्त मेरे साथ खड़े रहे। मैंने पेंटिंग, ध्यान और लिखना शुरू किया। अभी भी वो इससे निकलने की कोशिश कर रहे हैं। मुंबई जैसे महंगे शहर में रहना मुश्किल हो रहा था, इसलिए घर वापसी की। शरदूल कहते हैं कि मैं काम करूं या ना करूं, लेकिन घर का किराया तो देना ही होता है। दूसरे ख़र्च भी होते हैं। अगर कल कोई प्रोजेक्ट मिल भी जाए तो पैसे तीन महीने बाद मिलना शुरू होते हैं, जो कि इंडस्ट्री का नियम है। टीवी कलाकारों का वेटिंग पीरियड़ कमर तोड़ देने वाला है, क्योंकि आपके ख़र्च नहीं रुकते।

लम्बी बीमारी और बेरोज़गारी से डिप्रेशन के बाद टीवी एक्टर शरदूल कुणाल पंडित ने छोड़ी मुंबई! 9

कुछ दिन पहले शरदूल ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर की थी, जिसमें उन्होंने डिप्रेशन के बारे में कई बातें लिखी थीं। उन्होंने लिखा था कि जब कोई मर जाता है या सुसाइड कर लेता है तो इंटरनेट ऐसी बातों से भर जाता है कि अरे, किसी से बात कर ली होती। क्या आपको पता है कि कोई इंसान कब और क्यों बात नहीं करता? वही लोग जो ख़ुद को दोस्त कहते हैं और आपकी मदद करने का दिखावा करते हैं, वो चाय-कॉफी के दौरान आपकी हालत को लेकर गॉसिप करते हैं। कहते हैं कि वो बहुत नेगेटिव या साइको हो गया है। इसीलिए डिप्रेस है। हम उनके साथ हुई बातों का मज़ाक बनाते हैं। शरदुल को दर्शक बंदिनी, गोद भराई, कितनी मोहब्बत है 2 और कुलदीपक जैसे शोज़ में देख चुके हैं।