ऐश्वर्या रॉय जब कहा था की जॉइंट फॅमिली में रहना इतना भी बुरा नहीं है, जानिए साथ साथ रहने के क्या क्या है फ़ायद!

0
1435

दोस्तों बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या रॉय फिल्म जगत की जानी मानी अभिनेत्रियों में से एक है, ऐश ने बॉलीवुड के जाने माने बच्चन परिवार के बेटे अभिषेक बच्चन के साथ शादी की है,उनकी शादी के बाद भी उन्होंने कई फिल्मो में काम किया है लेकिन शादी के बाद से ऐश्वर्या और अभिषेक बच्चन जलसा से कभी बाहर नहीं निकलेंगे’ इस हेडलाइन ने उस समय सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी थीं, जब साल 2009 में ओपरा विनफ़्रे भारत आई थीं और उन्होंने ऐश-अभिषेक से पूछा था कि, ‘वह माता-पिता के साथ रहने के बाद भी काम कैसे कर लेते हैं?’ हालांकि, इस सवाल पर ऐश्वर्या ने जवाब दिया था कि ‘संयुक्त परिवार में रहना इतना भी बुरा नहीं है, वहां एक अलग सा अपनापन है।’ लेकिन कभी अपने सोचा है कि संयुक्त परिवार के जिस मॉडल को हमने अपने दिमाग में फिट किया हुआ है उसका ढांचा आज के समय में बहुत अलग है।

ऐश्वर्या रॉय जब कहा था की जॉइंट फॅमिली में रहना इतना भी बुरा नहीं है, जानिए साथ साथ रहने के क्या क्या है फ़ायद! 7

यदि आप एक ऐसे परिवार में शादी करते हैं, जो आपका और आपकी सीमाओं का सम्मान करता है, तो क्या वास्तव में संयुक्त परिवार में रहना बुरी बात है? जी हां, संयुक्त परिवार में रहने के कई फायदे होते हैं, जिनमें से एक घर की साझा जिम्मेदारी भी है। यदि आप अकेले रहते हैं, तो आपको अच्छे से पता होगा कि यह एक व्यस्ततम और थकावट वाला होता है।

ऐश्वर्या रॉय जब कहा था की जॉइंट फॅमिली में रहना इतना भी बुरा नहीं है, जानिए साथ साथ रहने के क्या क्या है फ़ायद! 8

जॉइंट फैमिली का असली फायदा तब होता है जब आप बच्चे पैदा करने का फैसला करते हैं। आज के समय में पति और पत्नी दोनों ही कमाने वाले हैं। ऐसे में जब उनके परिवार में एक बच्चा आता है, तो किसी को उसकी देखभाल करने के लिए घर रहने की जरूरत होती है। दादा-दादी के पास रहने से आप अच्छे माता-पिता और एक कामकाजी पेशेवर दोनों बन सकते हैं।

ऐश्वर्या रॉय जब कहा था की जॉइंट फॅमिली में रहना इतना भी बुरा नहीं है, जानिए साथ साथ रहने के क्या क्या है फ़ायद! 9

संयुक्त परिवार में रहने वाले बच्चे अधिक परिपक्व और देखभाल करने वाले होते हैं। यदि आप संयुक्त परिवार में रहते हैं, तो ‘शेयरिंग इज केयरिंग’ वाला फार्मूला आप पर एकदम फिट बैठता है। जी हां, मिसाल के तौर पर एक ही परिवार में आप आसानी से अपने चचेरे भाई से उसकी कोई जैकेट उधार ले सकते हैं यही नहीं, अपने चाचा के गैजेट के साथ खेल सकते हैं।