कंगना की बहादुरी की सिमी ग्रेवाल ने की जमकर तारीफ, बोली – मैं कंगना के बराबर बहादुर नहीं थी।”

0
436

दोस्तों बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद बॉलीवुड में बड़ी बहस छिड़ी हुई है। नेपोटिज्म जैसे मुद्दों पर खुलकर दो पक्ष सामने आ गए हैं।बॉलीवुड में नेपोटिजम पर सबसे पहले खुलकर बोलने वाले लोगों में एक्ट्रेस कंगना रनौत भी शामिल हैं। कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या को मर्डर बताया था। अभिनेत्री कंगना रनौत इस बहस में खुलकर आरोप लगा रही हैं कि बॉलीवुड में एक गैंग है जिसके इशारे पर यहां सब कुछ चलता है। अब कंगना को मशहूर अभिनेत्री रहीं सिमी ग्रेवाल का समर्थन मिला और उन्होंने कंगना जमकर तारीफ की है।

कंगना की बहादुरी की सिमी ग्रेवाल ने की जमकर तारीफ, बोली - मैं कंगना के बराबर बहादुर नहीं थी।" 11

बता दे की कंगना ने शनिवार को सुशांत की मौत और नेपोटिज्म को लेकर अर्णब गोस्वामी को इंटरव्यू दिया था, जो चैनल पर टेलीकास्ट हुआ था। सिमी ने इस इंटरव्यू का जिक्र करते हुए लिखा है, “मैं नहीं जानती कि अर्णब के साथ कंगना का इंटरव्यू देखने के बाद आपको कैसा महसूस हुआ। लेकिन इसने मुझे कुछ हद तक डिप्रेस्ड कर दिया। सुशांत सिंह राजपूत ने जो किया और बॉलीवुड में आउटसाइडर्स के साथ जो होता है, उसके लिए मैं व्याकुल हूं। इसे जरूर बदलना चाहिए।”

कंगना की बहादुरी की सिमी ग्रेवाल ने की जमकर तारीफ, बोली - मैं कंगना के बराबर बहादुर नहीं थी।" 12

सिमी ने सोशल मीडिया पर खुलकर कंगना की तारीफ की है। सिमी ने ट्विटर पर लिखा, ‘मैं कंगना की तारीफ करती हूं जो मुझसे ज्यादा बोल्ड और बहादुर हैं। केवल मैं जानती हूं एक ‘ताकतवर’ आदमी ने कैसे मेरा करियर बर्बाद करने की कोशिश की थी। मैं खामोश रही। क्योंकि मैं उतनी बहादुर नहीं हूं… निराश हूं लेकिन कंगना को देखकर राहत मिलती है।’

कंगना की बहादुरी की सिमी ग्रेवाल ने की जमकर तारीफ, बोली - मैं कंगना के बराबर बहादुर नहीं थी।" 13

सिमी ने आगे लिखा, ‘मुझे नहीं पता कि कंगना का इंटरव्यू देखकर आपको कैसा महसूस हुआ लेकिन इसने मुझे काफी निराश कर दिया। मैं परेशान हूं यह जानकर कि सुशांत सिंह राजपूत ने क्या-क्या सहा और बहुत से ‘आउडसाइडर्स’ बॉलीवुड में झेलते हैं। यह बदलना चाहिए। अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या ने वहां जागरुकता पैदा की। इसी तरह शायद सुशांत सिंह राजपूत का निधन भी बॉलीवुड में बदलाव लाए।’

कंगना की बहादुरी की सिमी ग्रेवाल ने की जमकर तारीफ, बोली - मैं कंगना के बराबर बहादुर नहीं थी।" 14 कंगना की बहादुरी की सिमी ग्रेवाल ने की जमकर तारीफ, बोली - मैं कंगना के बराबर बहादुर नहीं थी।" 15

कंगना ने एक साक्षात्कार में कहा था- अगर मैंने कुछ ऐसा कह दिया हो, जिसकी मैं गवाही नहीं दे सकती, जिसे मैं साबित नहीं कर सकती और जो जनता के हित में नहीं है तो मैं अपना पद्मश्री लौटा दूंगी। ऐसे में फिर मैं इस सम्मान के लायक नहीं हूं। मैं यह नहीं कह रही कि थी कोई भी चाहता था कि सुशांत मर जाए लेकिन कई चाहते थे कि वे निश्चित रूप से बर्बाद हो जाए। ये लोग भावनात्मक गिद्ध होते हैं। वे लोगों को मरता देखना चाहते हैं।