शशि कपूर ने 31 सालो तक सहा था पत्नी को खोने का गम , पत्नी की मौत के बाद बीच समंदर में जाकर रोए थे अभिनेता!

0
101

दोस्तों अपने ज़माने के पॉपुलर अभिनेता शशि कपूर और उनकी पत्नि जेनिफर कैंडल की प्रेम कहानी को सबसे बेमिसाल लव स्टोरी में से एक रही। बता दे की साल 1956 में जब जेनिफर केंडल अपने एक दोस्त के साथ नाटक ‘दीवार’ देखने रॉयल ओपेरा हाउस गई थीं। शशि कपूर तब 18 साल के थे। नाटक शुरू होने से पहले उन्होंने दर्शकों का अंदाजा लगाने के लिए पर्दे से झांका और उनकी नजर चौथी कतार में बैठी एक लड़की पर गई। जेनिफर को देखते ही शशि उन्हें अपना दिल दे बैठे।

शशि कपूर ने 31 सालो तक सहा था पत्नी को खोने का गम , पत्नी की मौत के बाद बीच समंदर में जाकर रोए थे अभिनेता! 11

इसकी शुरुआत जितनी सुखद थी,अंत उससे कहीं ज्यादा दर्दनाक हुआ था। शशि कपूर अकेलेपन का गम झेलते रहे। आज ही के दिन 7 सितंबर 1984 को जेनिफर, शशि कपूर को अकेला छोड़कर चली गई थीं। जेनिफर और शशि कपूर का साथ 28 साल तक का था। जेनिफर के निधन के बाद उनकी यादों के सहारे 31 साल तक शशि कपूर ने अकेले जीवन काटा।

शशि कपूर ने 31 सालो तक सहा था पत्नी को खोने का गम , पत्नी की मौत के बाद बीच समंदर में जाकर रोए थे अभिनेता! 12

उन दिनों पृथ्वी थिएटर में काम करने वाले शशि कपूर की कोई बड़ी पहचान नहीं थी। दूसरी तरफ जेनिफर अपने पिता जेफ्री केंडल के थिएटर समूह की लीड अभिनेत्री थीं। जेनिफर से दोस्ती के लिए शशि को बहुत दिन इंतजार करना पड़ा। जब दोस्ती हुई तो दोनों साथ आने-जाने लगे। इस दौर में दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया।

शशि कपूर ने 31 सालो तक सहा था पत्नी को खोने का गम , पत्नी की मौत के बाद बीच समंदर में जाकर रोए थे अभिनेता! 13

मुताबिक, इस प्यार के चलते ही शशि कपूर अपने होने वाले ससुर की थिएटर कंपनी से भी जुड़ गए थे लेकिन जेफ्री कैंडल अपनी बेटी को लेकर काफी पोजेसिव थे और नहीं चाहते थे कि शशि कपूर की उनसे शादी हो। फिर एक दिन जेनिफर ने शशि कपूर के लिए अपने पिता का घर छोड़ दिया। 1958 में शशि कपूर और जेनिफर की शादी हो गई। हालांकि इधर कपूर खानदान भी विदेशी बहू को लेकर सहज नहीं था। एक साल के अंदर शशि कपूर पिता बन गए।

शशि कपूर ने 31 सालो तक सहा था पत्नी को खोने का गम , पत्नी की मौत के बाद बीच समंदर में जाकर रोए थे अभिनेता! 14

शशि कपूर के लिए जेनिफर ने अपना थिएटर प्रेम भी कुर्बान कर दिया था। लेकिन इस दौरान शशि कपूर का फिल्मी करियर परवान चढ़ने लगा और वे बॉलीवुड के ऐसे कलाकार बन गए जिसके पास बहुत काम था। उनकी चर्चा विदेश तक में होने लगी थी। और इस कामयाबी के पीछे सबसे बड़ा हाथ जेनिफर का था।

शशि कपूर ने 31 सालो तक सहा था पत्नी को खोने का गम , पत्नी की मौत के बाद बीच समंदर में जाकर रोए थे अभिनेता! 15

लेकिन साल 1982 में पता चला कि जेनिफर को कैंसर हो गया है। शशि कपूर ने जेनिफर का मुंबई से लेकर लंदन तक के डॉक्टरों से इलाज कराया लेकिन जेनिफर को शशि कपूर बचा न सके, और 7 सितंबर, 1984 को जेनिफर का निधन हो गया। इसके साथ ही शशि कपूर की दुनिया में एक ऐसा सूनापन आ गया जो उनकी मौत तक उनके साथ रहा। जेनिफर की मौत के बाद पहली बार शशि तब रोए जब वो गोवा के समुद्री तट से एक बोट लेकर समुद्र के काफी अंदर तक चले गए थे।