फिर लौटी चारू और राजीव की ज़िंदगी में खुशियाँ, ख़त्म हुई दोनों के बीच की दूरिया हुए फिर एक!

0
10

दोस्तों टीवी जगत की अभिनेत्री चारू असोपा और अभिनेत्री सुष्मिता सेन के भाई और बिजनेसमैन राजीव सेन तीन महीने पहले दोनों एक-दूसरे से अलग हो गए थे जिसके बाद दोनों के रिश्ते में खटास की खबरे तेज़ी से फैलने लगी थी। राजीव शादी की पहली सालगिरह से कुछ ही दिन पहले राजीव चारू को मुंबई अकेले छोड़कर दिल्ली चले गए थे। जिससे चारू का दिल टूट गया था। यहां तक की चारु ने अपने नाम के पीछे से राजीव का सरनेम ‘सेन’ भी हटा दिया था। लेकिन अब दोनों फिर से  एक हो गए हैं।

फिर लौटी चारू और राजीव की ज़िंदगी में खुशियाँ, ख़त्म हुई दोनों के बीच की दूरिया हुए फिर एक! 9

चारु और राजीव की ज़िंदगी में खुशियों वाली बहार फिर से आ चुकी है। 3 महीने अलग रहने के बाद राजीव चारु के पास लौट आए हैं। अब ये क्यूट कपल एक बार फिर साथ हैं और अपनी शादीशुदा जिंदगी में आई सभी परेशानियों को दूरी करने की कोशिश में लगे हैं। चारु ने राजीव के साथ अपनी एक तस्वीर भी शेयर की है जिसमें चारु ने बेहद प्यार से पति राजीव को गले लगाया हुआ है। जिसके साथ ही चारू ने  लिखा है “मैने तुम्हें बहुत याद किया।”चारू ने  इस बार राजीव से लिखित में वादा लिया है कि वह अब कभी उन्हें छोड़ कर नहीं जाएंगे। चारू ने पेपर्स पर वादा लिखवाकर साइन तक करवाए हैं।

फिर लौटी चारू और राजीव की ज़िंदगी में खुशियाँ, ख़त्म हुई दोनों के बीच की दूरिया हुए फिर एक! 10

चारू ने एक इंटरव्यू में भी इस खुशी को शेयर किया है। चारू ने कहा है “वह तीन महीने बाद घर लौटकर आए हैं। हमने लंबी बातचीत की और ये तय किया है कि हम आगे ऐसा क्या करें और क्या ना करें, ताकि यह सिचुएशन हमारी जिंदगी में दोबारा ना आए। मैने उनसे एक लेटर पर साइन करवाएं जिसपर उन्होने लिखा है कि वो दोबारा मुझे छोड़कर नहीं जाएंगे।

फिर लौटी चारू और राजीव की ज़िंदगी में खुशियाँ, ख़त्म हुई दोनों के बीच की दूरिया हुए फिर एक! 11 फिर लौटी चारू और राजीव की ज़िंदगी में खुशियाँ, ख़त्म हुई दोनों के बीच की दूरिया हुए फिर एक! 12

वही राजीव ने भी अपनी एक क्यूट सेल्फी इस्टां पर शेयर की है। राजीव ने  तस्वीर शेयर करते हुए लिखा “एक साथ मजबूती, मैं तुम्हें बेहद प्यार करता हूं।” बता दें राजीव ने अचानक मुंबई लौटकर चारु को खूबसूरत सरप्राइज़ दिया। चारु जब अपने शो की शूटिंग से लौटकर आईं, तब राजीव घर में ही मौजूद थे। जिन्हें देख चारु अपनी सारी नराज़गी भूल गईं और उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।