वरिष्ठ अभिनेत्री सुरेखा सीकरी हुई हॉस्पिटल से डिस्चार्ज, रिकवरी में लगेगा और थोड़ा समय!

0
18

दोस्तों बॉलीवुड फिल्म बधाई हो की और टीवी शो बालिका वधु में किरदार में नज़र आई अभिनेत्री सुरेखा सीकरी के फैंस के लिए खुशखबरी है। सुरेखा को अब अस्पताल से छुट्टी मिल गई है9 सितंबर को अपने घर पर जूस पीते हुए ब्रेन स्ट्रोक हो जाने के कारण उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उस समय सुरेखा की हालत बहुत नाजुक थी लेकिन अब वह पहले से बेहतर हैं। इस खबर की पुष्टि अस्पताल के स्टाफ ने की है। अस्पताल से पता चला है कि सुरेखा को अस्पताल से 22 सितंबर को ही छुट्टी मिल गई थी और वह वहां से सीधे अपने घर चली गईं। फिलहाल उनकी देखभाल के लिए उनकी नर्स साथ है।

वरिष्ठ अभिनेत्री सुरेखा सीकरी हुई हॉस्पिटल से डिस्चार्ज, रिकवरी में लगेगा और थोड़ा समय! 7

ब्रेन स्ट्रोक के बाद सुरेखा के इलाज की जिम्मेदारी अस्पताल के काबिल न्यूरोलॉजिस्ट डॉ आशुतोष शेट्टी पर थी। डॉ. आशुतोष शेट्टी ने 75 साल की सुरेखा के अस्पताल में भर्ती होने के बाद उनका ट्रीटमेंट किया। डॉक्टर ने बताया, ‘सुरेखाजी की हालत में स्ट्रोक के बाद जल्द ही सुधार आने लगा था। अब वह लोगों को पहचानती हैं। हालांकि वह सपॉर्ट के साथ चलती हैं। बेशक शूटिंग शुरू करने से पहले उनको वक्त की आवश्यकता होगी और अब फिजियोथेरेपी की जरूरत है इसके बाद वह काम पर भी लौट सकती हैं।’

वरिष्ठ अभिनेत्री सुरेखा सीकरी हुई हॉस्पिटल से डिस्चार्ज, रिकवरी में लगेगा और थोड़ा समय! 8

सुरेखा को ब्रेन स्ट्रोक होने के बाद जब अस्पताल में भर्ती कराया गया था तब उनकी हालत बहुत नाजुक थी। इसमें चिंता का विषय यह था कि यह उनके साथ दूसरी बार हुआ था। इससे पहले वर्ष 2018 में अपनी सुपरहिट फिल्म ‘बधाई हो’ के रिलीज के लगभग एक महीने बाद ही सुरेखा को पहली बार ब्रेन स्ट्रोक हुआ था। उस समय उनके आधे शरीर को आंशिक रूप से लकवा मार गया था। उसी समय से सुरेखा के साथ हर समय एक नर्स तैनात रहती है।

वरिष्ठ अभिनेत्री सुरेखा सीकरी हुई हॉस्पिटल से डिस्चार्ज, रिकवरी में लगेगा और थोड़ा समय! 9

लॉकडाउन के दौरान सुरेखा ने मीडिया में काम न होने की वजह से आर्थिक तंगी से जूझने की समस्या बताई थी। उन्होंने सरकार की तरफ से तय किए गए नियमों पर सवाल उठाते हुए कहा था कि 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को अगर काम नहीं करने दिया जाएगा तो वह खाएंगे क्या? इस दौरान उन्होंने यह भी बताया था कि घर के खर्चों के अलावा उनके पास उनकी दवाइयों का भी भारी खर्च है। बाद में जब सरकार की तरफ से 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को काम करने की अनुमति दी गई तो इस पर सुरेखा ने खुशी भी जताई।