बहुत जल्द सुलझने वाली है सुशांत के केस की गुत्थी, जांच में जुटी सीबीआई!

0
70

दोस्तों बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को इस दुनिया को छोड़े को तीन महीने से ज्यादा हो चुके है लेकिन उनकी   मृत्यु हत्या थी या आत्महत्या इस का पूरी तरह से पता नहीं चल पाया है लेकिन खबरे है की  गुत्थी अब जल्द ही सुलझने वाली है, क्योंकि सीबीआई  को एम्स की रिपोर्ट मिल चुकी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एम्स की फॉरेंसिंक टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी है।

 

बहुत जल्द सुलझने वाली है सुशांत के केस की गुत्थी, जांच में जुटी सीबीआई! 9

अब सीबीआई उस रिपोर्ट का विश्लेषण कर रही है और जिसके उपरांत ही सीबीआई  किसी नतीजे पर पहुंचेगी। सोमवार को सीबीआई ने बयान जारी कर कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के केस में केंद्रीय जांच ब्यूरो पेशेवर कार्रवाई कर रहा है और सभी पहलुओं पर गौर किया जा रहा है और अभी तक किसी भी पहलू से मना नहीं किया गया है।

बहुत जल्द सुलझने वाली है सुशांत के केस की गुत्थी, जांच में जुटी सीबीआई! 10

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कल यानी सोमवार को एक विस्तृत बैठक हुई, इस बीच एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सीबीआई को अपने निर्णायक निष्कर्ष रिपोर्ट सौंपे। जंहा इस बात का पता चला है कि डॉ सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता वाली समिति का गठन केंद्रीय जांच ब्यूरो के अनुरोध पर किया गया था ताकि पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट का गहन अध्ययन करने वाले है।

बहुत जल्द सुलझने वाली है सुशांत के केस की गुत्थी, जांच में जुटी सीबीआई! 11

कुछ समय पहले एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सुशांत की मौत में जहर की कार्रवाई के लिए विसरा टेस्ट किया था। इससे पहले सीबीआई ने सुशांत सिंह राजपूत के मुंबई स्थित घर पर फॉरेंसिक कार्रवाई और आगे की टेस्ट के लिए दिल्ली एम्स से 3 सदस्यीय डॉक्टरों की एक विशेष टीम बुलाई थी। किसी भी इंसान की मौत हो जाने के बाद अगर पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराती है, तो इस दौरान मरने वाले के शरीर से विसरल पार्ट यानि आंत, दिल, किडनी, लीवर आदि अंगों का सैंपल लिया जाता है, उसे ही विसरा कहा जाता है। अगर किसी शख्स की मौत संदिग्ध हालात में होती है, उसकी मौत के पीछे पुलिस या परिवार को किसी भी तरह के ड्रग या जहर का शक होता है, तो ऐसे मामलों में मौत की वजह जानने के लिए विसरा की जांच की जाती है।

बहुत जल्द सुलझने वाली है सुशांत के केस की गुत्थी, जांच में जुटी सीबीआई! 12

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इससे पहले डॉ. सुधीर गुप्ता के नेतृत्व वाली एम्स की फॉरेंसिक टीम ने शीना बोरा मामले और सुनंदा पुष्कर केस जैसे कई हाई प्रोफाइल केसों में अपनी चिकित्सकीय-कानूनी राय पेश की थी। सुशांत के विसरा जांच में सैंपल का परीक्षण करने के लिए एम्फ़ैटेमिन, कैनबिस, ओपियोड, कोकीन, हेरोइन आदि ड्रग का भी टेस्ट किया गया है। इन ड्रग के सैंपल टेस्ट से यह पता चल जाएगा कि क्या सुशांत सिंह राजपूत ने वास्तव में इनमें से किसी भी ड्रग्स का सेवन किया है या नहीं।