जब भीड़ से घिरे अजय देवगन को बचाने 250 फाइटर्स लेकर पहुंचे थे पिता वीरू देवगन, जानिए क्या है पूरा मामला!

0
171

बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन फिल्म इंडस्ट्री के जाने माने स्टार्स में से एक हैं। अजय देवगन के पिता वीरू देवगन एक बहुत बड़े एक्शन डायरेक्टर थे। अजय देवगन के पिता  वीरू देवगन उन्हें एक एक्शन सुपरस्टार बनाना चाहते थे। अजय और वीरू देवगन बॉलीवुड के सबसे चर्चित पिता-पुत्र में शुमार रहे हैं। स्टंट और एक्शन सीक्वेंस को डायरेक्ट करने के अलावा वीरू देवगन ने ‘हिंदुस्तान की कसम’ जैसी फिल्मों का निर्देशन भी किया है।

जब भीड़ से घिरे अजय देवगन को बचाने 250 फाइटर्स लेकर पहुंचे थे पिता वीरू देवगन, जानिए क्या है पूरा मामला! 9

इस फिल्म में एक्टर अजय देवगन मुख्य किरदार में नजर आए थे। साथ ही उनके साथ अमिताभ बच्चन भी मुख्य भूमिका निभाते दिखे थे। अजय देवगन अपने पिता वीरू देवगन को अपनी प्रेरणा मानते हैं। बता दे की ऑफ स्क्रीन भी वीरू देवगन किसी एक्शन स्टार से कम नहीं थे। यह बात इस वीडियो में सामने आई है। हाल ही में अजय देवगन का एक पुराना वीडियो इंटरनेट पर तेजी से वायरल हो रहा है।

जब भीड़ से घिरे अजय देवगन को बचाने 250 फाइटर्स लेकर पहुंचे थे पिता वीरू देवगन, जानिए क्या है पूरा मामला! 10


इस वीडियो में साजिद खान अजय देवगन के साथ हुए उस पुराने किस्से को याद करते हुए कह रहे हैं, “अजय की व्हाइट जीप थी, जिसमें हम सब घूमते थे। हॉलिडे होटल के पास पतली सी गली थी, जहां से अचानक पतंग के पीछे भागते हुए एक बच्चा पता नहीं कहां से आ गया। जीप फूल स्पीड में थी, तो हमने ब्रेक लगा दिया। हालांकि, बच्चे को लगी नहीं थी। वह डर गया और रोने लगा। पता नहीं वहां पर कहां से हजारों लोग इक्ट्ठा हो गए। हम उन्हें समझाने की कोशिश कर रहे थे कि इसमें अजय की कोई गलती नहीं है और बच्चा भी बिल्कुल ठीक है।”

जब भीड़ से घिरे अजय देवगन को बचाने 250 फाइटर्स लेकर पहुंचे थे पिता वीरू देवगन, जानिए क्या है पूरा मामला! 11

जब भीड़ से घिरे अजय देवगन को बचाने 250 फाइटर्स लेकर पहुंचे थे पिता वीरू देवगन, जानिए क्या है पूरा मामला! 12

वीडियो में साजिद खान आगे कह रहे हैं, “लेकिन लोग बोलने लगे, ‘बाहर निकलो, बाहर निकलो, तुम सब अमीर लोग बहुत तेज गाड़ी चलाते हो।’ फिर समझ नहीं आया कि क्या हुआ। 10 मिनट बाद यह खबर अजय के पिता वीरू देवगन को मिली। जो उसी समय 150 से 250 फाइटर्स लेकर स्पॉट पर पहुंच गए। यह बिल्कुल हिंदी फिल्म सीन की तरह था।”