सोनू सूद की मदद भी नहीं बचा पाई माहि विज के भाई की जान, एक्ट्रेस बोली- बोलीं-‘मदद के लिए जिंदगी भर रहूंगी सोनू सूद की अहसानमंद’!

0
20

दोस्तों कोरोना की दूसरी लहर में कई बड़े स्टार्स ने अपने घरवालों को खोया है। हाल ही में टीवी एक्ट्रेस माही विज पर दुखों का पहाड़ टूट गया है। अभिनेत्री माही विज के भाई को कोरोना ने कोरोना ने छीन लिया। माही के भाई की उम्र महज 25  साल थी। माही विज को उम्मीद थी कि उनका भाई ठीक होकर घर लौट आएगा, पर क्या मालूम था कोरोना वायरस उसकी जान ले लेगा।

सोनू सूद की मदद भी नहीं बचा पाई माहि विज के भाई की जान, एक्ट्रेस बोली- बोलीं-'मदद के लिए जिंदगी भर रहूंगी सोनू सूद की अहसानमंद'! 7

माही ने भाई का निधन 1 जून को हो गया था, जिसके बारे में ऐक्ट्रेस ने अब बताया है। माही ने सोशल मीडिया पर भाई को याद करते हुए इमोशनल पोस्ट शेयर किया। माही ने भाई की तस्वीर शेयर कर लिखा-‘भाई मैंने तुम्हें खोया नहीं बल्कि पाया है। तुम मेरी ताकत हो। मैं तुमसे आज भी बहुत प्यार करती हूं और हमेशा करती रहूंगी। काश मैं कुछ दिन रिवाइंड करके तुम्हें कसकर गले लगा सकती और तुम्हें कभी बिछड़ने नहीं देती। हम तुमसे बहुत प्यार करते थे लेकिन शायद भगवान को तुम हमसे भी ज्यादा प्यारे थे। तुम हमेशा मेरे हीरो रहोगे।’

माही विज ने अपने इंस्टाग्राम बाॅलीवुड एक्टर सोनू सूद को शुक्रिया करते हुए लिखा-‘मेरे भाई को हॉस्पिटल में बेड दिलवाने में मदद करने के लिए थैंक्यू सोनू सूद। ऐसे वक्त में, जब मुझमें हिम्मत नहीं थी तब आपने मुझे हिम्मत और उम्मीद दी। मैं उम्मीद करती थी कि भाई ठीक होकर घर वापस लौट आएगा पर कहीं न कहीं आपको सच मालूम था। मैं आपकी ताकत और आपके इतने अच्छे दिल की शुक्रगुजार हूं। आप वाकई लोगों की मदद करने की कोशिश कर रहे हो। आपकी हिम्मत और पॉजिटिविटी के लिए भी शुक्रगुजार हूं जो आप उन लाखों लोगों को दे रहे हो, जो मदद के इंतजार में हैं।’

सोनू सूद की मदद भी नहीं बचा पाई माहि विज के भाई की जान, एक्ट्रेस बोली- बोलीं-'मदद के लिए जिंदगी भर रहूंगी सोनू सूद की अहसानमंद'! 8 सोनू सूद की मदद भी नहीं बचा पाई माहि विज के भाई की जान, एक्ट्रेस बोली- बोलीं-'मदद के लिए जिंदगी भर रहूंगी सोनू सूद की अहसानमंद'! 9

माही विज ने अपने इस पोस्ट में सोनू सूद का जो ट्ववीट लगाया है। इसमें सोनू सूद ने लिखा था‘एक 25 साल का लड़का, जिसे हम बचाने की कोशिश कर रहे थे, वह आज कोविड से जंग हार गया। इतने दिनों से यह जानते हुए भी कि उसके बचने के चांस बहुत कम हैं, मैं फिर भी एक उम्मीद लिए रोजाना डॉक्टर से बात करता था। कभी हिम्मत ही नहीं हुई कि उसके परिवार को सच बता पाऊं।’