किन्नौर में दरका पहाड़, मलबे में 80 लोगों के दबे होने की आशंका, बुलाई गई NDRF और सेना!

0
29

दोस्तों हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के निगुलसेरी में नेशनल हाईवे-5 पर चील जंगल के पास चट्टानें गिरने से बड़ा हादसा हो गया है। इस हादसे में एचआरटीसी बस  की चपेट में आने की सूचना है। बताया जा रहा है कि चट्टानें गिरने से एचआरटीसी बस मलबे में दब गई है। किन्नौर जिले में मूरंग-हरिद्वार रूट की यह बस है। वहीं, चट्टानें गिरने से कई वाहन मलबे में दब गए हैं। सूचना मिलते ही प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर रवाना हो गई है।

किन्नौर में दरका पहाड़, मलबे में 80 लोगों के दबे होने की आशंका, बुलाई गई NDRF और सेना! 7

वही एनडीआरएफ और सेना को भी बुलाया गया है। यही नहीं, इस बड़े हादसे के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिमाचल सीएम जयराम ठाकुर से न सिर्फ बात करके घटना की जानकारी ली है बल्कि हर संभव मदद का भरोसा दिया है। प्रशासनिक जानकारी के अनुसार, बस के ड्राइ‌वर ने हादसे के बाद घटना स्थल से जानकारी दी है कि बस में 35 से 40 लोग सवार थे। किन्नौर के भावानगर के पास यह घटना हुई है। बस सड़क से दूर दूर तक नहीं दिख रही है। वहीं, मलबे में 80 लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है, क्‍योंकि इस हादसे का शिकार कई अन्‍य वाहन भी हुए हैं।

किन्नौर में दरका पहाड़, मलबे में 80 लोगों के दबे होने की आशंका, बुलाई गई NDRF और सेना! 8

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में भावानगर उपमंडल में बड़ा हादसा हुआ है। ज्यूरी रोड पर निगोसारी और चौरा के बीच में अचानक एक बड़ा पहाड़ दरक गया है, जिसमें एक एचआरटीसी की बस और कुछ ट्रक वह हल्के वाहन दब गए हैं जिनमें कई लोग सवार थे। ऐसे में बड़े पैमाने पर जान हानि होने का अनुमान लगाया जा रहा है। एसडीएम भावानगर मनमोहन सिंह ने बताया कि यह घटना लगभग 12:45 बजे की है। उन्हें जैसे ही सूचना मिली है तो मौके के लिए बस राहत एवं बचाव कार्य की एक टीम रवाना कर दी गई है।

किन्नौर में दरका पहाड़, मलबे में 80 लोगों के दबे होने की आशंका, बुलाई गई NDRF और सेना! 9

उन्होंने बताया कि बसों में भी कई लोगों के सवार होने की सूचना है जिन सभी के लैंडस्लाइड में दबे जाने की खबर आ रही है जो कि बेहद दुखद है। अभी तक मौके पर पत्थर लगातार गिर रहे हैं जिससे कि राहत एवं बचाव कार्य शुरू करने में भी प्रशासन एवं पुलिस को बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। शिमला में विधानसभा के परिसर के बाहर सीएम जयराम ठाकुर ने घटना की पुष्टि की है। उन्‍होंने कहा कि सिर्फ जानकारी मिली है। बस के अलावा कुछ गाड़ियां भी दबीं हैं। बता दें कि इससे पहले किन्नौर के सांगला-छितकूल मार्ग पर 25 जुलाई को बड़ा लैंडस्लाइड हुआ था। यहां पहाड़ से पत्थर गिरने से एक टूरिस्ट वाहन चपेट में आ गया था। इसमें 9 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि तीन लोग घायल हो गए थे। बता दें कि हिमाचल में भारी बारिश के चलते लगातार भूस्खलन हो रहा है।