पति रोज टिफिन दे देता था भिखारी को, जब पत्नी को सच्चाई पता चली तो भिखारी से कर ली शादी!

0
31

दोस्तों इस दुनिया में कई चीचें हर दिन घटती रहती है जिनके बारे में हमे कोई जानकारी नही रहती है, हालांकि कुछ खबरे सोशल मीडिया पर हमेशा ही चर्चा का विषय बनी रही है, इसी क्रम में आज हम एक ऐसी खबर के संबंध में बताने वाले है जिसे सुनने के पश्चात आप यह सोचने पर मजबूर हो जायेगें कि आखिर हम किस पर विश्वास करें।

पति रोज टिफिन दे देता था भिखारी को, जब पत्नी को सच्चाई पता चली तो भिखारी से कर ली शादी! 9

खबरों की माने तो एक आदमी को बिना कुछ कहे उसकी पत्नी घर छोड़ कर चली गई। आइए जाने आखिर क्या है पूरा सच?  आज हम जिस घटना के संबंध में बात करने वाले है वह घटना UP की है यहां श्रावस्ती नाम की एक महिला अपने पति आशीष के साथ रही है। महिला रोज़ अपने पति को टिफ़िन में एक ही सब्ज़ी देती पर पति शिकायत नहीं करता था, फिर क्या पत्नी के दिमाग को ये बात खटक गयी।

पति रोज टिफिन दे देता था भिखारी को, जब पत्नी को सच्चाई पता चली तो भिखारी से कर ली शादी! 10 पति रोज टिफिन दे देता था भिखारी को, जब पत्नी को सच्चाई पता चली तो भिखारी से कर ली शादी! 11

आशीष रोज सुबह- सुबह टिफिन लेकर मजदूरी पर निकल जाता था, और पत्नी से कभी कोई शिकायत नहीं करता की टिफ़िन कैसा था, आशीष की पत्नी उसे हर रोज टिफिन में एक ही तरह की बनी हुई लौकी की सब्जी देती थी, श्रावस्ती ने अपने पति को रोज लगभग 20 दिन तक लौकी की सब्जी बनाकर दी। फिर भी उसके पति ने इस संबंध में कोई बात नही की।

पति रोज टिफिन दे देता था भिखारी को, जब पत्नी को सच्चाई पता चली तो भिखारी से कर ली शादी! 12

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि श्रावस्ती को जब पति पर शक होने लगा और उसने पति का पीछा किया की आखिर वो कभी भी टिफ़िन को लेकर कुछ कहता क्यों नहीं है,पत्नी ने देखा आशीष टिफिन को रास्तें में ही रोज एक भिखारी को दे देता था। श्रावस्ती कुछ पति से पूछ पाती भिखारी ने श्रावस्ती को देखते हुए रोमांटिक होकर दो चार शायरी कह डाली उसके बाद क्या था? आशीष की पत्नी श्रावस्ती को ऐसा लगा कि जैसे मानो उसे उसके बचपन का प्यार मिल गया हो जिसे उसने कभी खो दिया था। उसी समय श्रावस्ती ने आशीष को तलाक देकर भिखारी से मंदिर में जाकर शादी कर ली और साथ में भीख मांगते है। यकीन करना मुश्किल है,पर बात सच है।