शोर की आवाज सुनकर मां ने बालकनी से झांका तो उड़ गए होश, खून से लथपथ जमीन पर पड़ी थी लाडली!

0
22

दोस्तों यूपी के गाजियाबाद में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है, जहां एक 12 साल की बच्ची की 9वीं मंजिल से गिरने से मौत हो गई। बच्ची घर पर कुत्ते के बच्चे के साथ खेल रही थी। तभी कुत्ता बालकनी में चला गया और वहां रखे जाल में फंस गया। बच्ची उसे जाल से निकाल रही थी। तभी उसका बैलेंस बिगड़ा और वो गिर गई। बच्ची को घायल हालत में अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। मूलरूप से काशीपुर, उत्तराखंड निवासी ललित मोहन शर्मा मेरठ रोड इंडस्ट्रियल एरिया स्थित मल्टीनेशनल कंपनी में सेल्स के जीएम हैं। वह करीब दस साल से इकलौती बेटी ज्योत्सना (12) और पत्नी के साथ गोविंदपुरम स्थित गौर होम्स सोसायटी की नौवीं मंजिल के फ्लैट में रह रहे हैं।

शोर की आवाज सुनकर मां ने बालकनी से झांका तो उड़ गए होश, खून से लथपथ जमीन पर पड़ी थी लाडली! 7

बुधवार को ललित ऑफिस चले गए। घर पर पत्नी व बेटी थी। दोपहर करीब सवा 12 बजे ज्योत्सना घर में कुत्ते के साथ खेल रही थी। कुत्ता खेलते-खेलते कमरे से बालकनी में आ गया और रेलिंग में फंस गया। कुत्ते की मदद के लिए ज्योत्सना दौड़ी। कुत्ता निकालने के चक्कर में वह नीचे गिर गई। साथ में कुत्ता भी नीचे गिर गया।

शोर की आवाज सुनकर मां ने बालकनी से झांका तो उड़ गए होश, खून से लथपथ जमीन पर पड़ी थी लाडली! 8

बच्ची की चीख सुन सोसायटी के गार्ड और स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे। बच्ची की मां व सोसायटी के लोग उसे सर्वोदय अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के वक्त ज्योत्सना की मां घर में काम कर रही थीं। उन्होंने सोचा कि बेटी कुत्ते के साथ दूसरे कमरे में खेल रही है, लेकिन कुछ देर बाद शोरशराबा होने पर उन्होंने बाहर बालकनी में आकर देखा तो लोग जमीन की तरफ इशारा कर रहे थे। नीचे बेटी को पड़ा देख उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। वह जैसे-तैसे नीचे पहुंचीं।

शोर की आवाज सुनकर मां ने बालकनी से झांका तो उड़ गए होश, खून से लथपथ जमीन पर पड़ी थी लाडली! 9

नौवीं मंजिल से गिरकर माता-पिता की इकलौती संतान की मौत होने का पता लगने पर गौर होम्स सोसायटी में मातम छा गया। स्थानीय लोग गमजदा माता-पिता को ढांढस बंधा रहे थे। सीओ कविनगर अंशु जैन ने बताया कि नौवीं मंजिल से गिरकर बच्ची की मौत हुई है। माता-पिता ने पोस्टमार्टम न कराने की गुहार लगाई, जिसके चलते पंचनामा भर शव उनके सुपुर्द कर दिया गया।