#MeToo: पहली बार एक लड़के ने बताई आपबीती, एक्ट्रेस कंगना रानौत पर लगाये बेहद गंदे आरोप

0
342

साल 2006 में शुरू हुआ #metoo कैंपेन आजकल बॉलीवुड में जोरो पर है. हाल ही में एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर साल 2008 में योन शोषण के आरोप लगाये थे. जिसके बाद एक एक करके दर्जनों एक्ट्रेस अपने साथ हुए सेक्सुअल हरास्स्मेंट का खुलासा कर चुकी है. लेकिन आज जो घटना हम आपको बताने जा रहे है उसमे पहली बार एक लड़के ने अपने साथ हुए आप बीती बताई है.

आपको बता दें एक्ट्रेस कंगना रानौत ने भी डायरेक्टर विकास बहल पर आरोप लगाये थे. लेकिन अब एक एक्टर ने कंगना पर ही आरोप लगा दिए है. हाल ही में एक्टर शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन ने ट्विटर पर एक पोस्ट के जरिए MeToo से जुड़ा अपना दुख व्यक्त किया है। उन्होंने बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत की ओर इशारा करते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट किए है। अध्ययन सुमन ने अपनी पोस्ट पर लिखा कि “कई लोग मुझसे मेरी मीटू स्टोरी शेयर करने के लिए कह रहे हैं। माफी चाहता हूं। जब दो साल पहले मैंने ये किया था तो मुझे काफी शर्मिंदगी और अपमान का सामना करना पड़ा था। मेरे माता-पिता जिन्हें मैं सबसे ज्यादा प्यार करता हूं, उनको लेकर नेशनल टीवी पर भद्दे कमेंट्स किए गए थे।”

 

अपनी ओर एक ट्वीट में वो लिखते हैं कि “आपको अपने दर्द और बुरे अनुभव को साझा करने का पूरा हक है। जिन्होंने मेरा समर्थन किया उन्हें दिल से शुक्रिया। मुझे खुशी है कि ये पल उन्हें मौका दे रहा है, जिनके साथ ये हुआ है।” इस मुद्दे को लेकर जब मीडिया ने कंगना से पूछा तो इसपर कंगना का रिएक्शन भी देखने लायक था यह बात सुनकर वह काफी देर तक हंसती रही और बताया “मुझे उम्मीद है कि उन्हें न्याय मिलेगा।”

 

 

कंगना और अध्ययन सुमन ने फिल्म राज़ 2 में साथ काम किया था. इस फिल्म के बाद दोनों एक दुसरे से प्यार करने लगे थे लेकिन कुछ ही समय बाद ये अलग हो गए थे. जिसके बाद अध्ययन अमेरिका चले गए. 6 साल अमेरिका में रहने के बाद जब अध्ययन वापस लौटे तो उन्ह्नोने कंगना पर गंभीर आरोप लगाये थे. अध्ययन सुमन ने ये खुलासा किया था कि कंगना उनके साथ मारपीट करती थी। उनकी बेज्जती करने के साथ-साथ उन पर काला जादू भी करती थी। एक बार ऋतिक रोशन की बर्थडे पार्टी में किसी बात को लेकर कंगना ने उन्हें थप्पड़ भी मारा था और साथ ही साथ गालियां भी दी थी. लेकिन उस समय अध्ययन की बात को मीडिया में कोई तवज्जो नहीं दि गई थी.