3 महीने जेल में रहकर आया ये मशहूर कॉमेडियन, बाहर आकर बताया पूरा हाल

0
109

 

बॉलीवुड के मशहूर कॉमेडियन राजपाल यादव जेल से रिहा हो गए है. उन्हें एक चेक बाउंस मामले में 3 महीने की जेल हुई थी. 200 से ज्यादा हिंदी फिल्मों में काम कर चुके 47 साल के राजपाल यादव को एक दिसंबर को कोर्ट ने 3 महीने की सजा सुनाई थी।  तिहाड़ जेल में राजपाल यादव जेल नंबर 7 में थे। राजपाल ने साल 2010 में फिल्म ‘अता पता लापता’ में निर्देशक के तौर पर पदार्पण करने के लिए यह कर्ज लिया था। जिसे वे चुकाने में असमर्थ रहे।

इस पर न्यायमूर्ति राजीव सहाय ने आदेश दिया कि यादव को हिरासत में ले लिया जाए और तिहाड़ जेल भेज दिया जाए। दिल्ली की एक कंपनी ‘मुरली प्रोजेक्ट्स’ ने अभिनेता की कंपनी ‘श्री नौरंग गोदावरी एंटरटेनमेंट’ पर पांच करोड़ रुपए का कर्ज नहीं चुकाने का आरोप लगाकर मामला दर्ज कराया था। राजपाल यादव ने यह पैसा 2010 में हिंदी फिल्म ‘अता पता लापता’ के निर्माण के लिए लिया था। जेल से रिहा होने के बाद अब राजपाल ने बताया है की आखिर वे कैसे जेल में समय बिताया करते थे.

राजपाल यादव ने इंटरव्यू में कहा- ‘जेल में मौजूद लोगों से बातचीत करता था। उनके साथ एक्टिविटी में भाग लेता था। जब मैं फिल्म की शूटिंग कर रहा होता था और गांव जाना पड़ता था तो मैं वहां के लोगों से भी बातचीत करता था। यह चीजें आपको जिंदगी में नई चीजें सिखाती हैं। जेल के अंदर मैंने राजू की पाठशाला बनाई थी। जहां मैं लोगों को एक्टिंग सिखाता था। मैं इस प्लान को दूसरे शहरों में भी ले जाना चाहता हूं। जेल से बाहर आते ही सबको करेक्टर सर्टिफिकेट दिया जाता है। मुझे भी मिला जो अच्छा था।’

इससे पहले जेल से बाहर आने के बाद एक इंटरव्यू में राजपाल यादव ने कहा था ‘ मैंने कुछ खास लोगों पर विश्वास किया, लेकिन उन्होंने बाद में इस बात का गलत फायदा उठाया, लेकिन मैं अब इस पर कुछ नहीं कहना चाहता हूं, क्योंकि मैं आगे बढ़ना चाहता हूं, मैं जानता हूं कि जिंदगी से अभी बहुत कुछ करने और सीखने को मिलेगा।’