बाल ठाकरे के वो विवादिन बयान जिन पर हुआ था बहुत बवाल

0
283

 

25 जनवरी को नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म ठाकरे रिलीज़ हुई है. यह फिल्म महाराष्ट्र के दिग्गज नेता और शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे की ज़िन्दगी पर बनी है. बाल ठाकरे कट्टर हिन्दू थे. वे एक साधारण आम आदमी से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद तक पहुंचे. उन्होंने बाबरी मस्जिद गिराने में भी अहम् भूमिका निभाई.

बाल ठाकरे के वो विवादिन बयान जिन पर हुआ था बहुत बवाल 1

ठाकरे की ज़िन्दगी में विवाद भी कम नहीं रहे. वे अक्सर बाहर के लोगों का विरोध करते नजर आये. ऐसे में आज हम आपको उनके कुछ ऐसे बयान बताने जा रहे है जिनपर बहुत हंगामा हुआ था. नवम्बर 2009 में सचिन तेंडुलकर ने एक बार कहा था कि, मुंबई हर भारतीय की है. सचिन के इस बयान पर बाल ठाकरे ने सचिन को आड़े हाथों लिया था, और कहा था कि, जब आप चौका या छक्का लगाते हैं तो लोग आपकी सराहना करते हैं, लेकिन यदि आप मराठियों के अधिकारों का उल्लंघन करेंगे या उन पर टीका-टिप्पणी करेंगे तो इससे मराठी मानुष आहत होगा और वो इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

बाल ठाकरे के वो विवादिन बयान जिन पर हुआ था बहुत बवाल 2

भारत की टेनिस खिलाडी सानिया मिर्ज़ा ने पाकिस्तान के क्रिकेटर शोएब मलिक से शादी की थी. जिसका काफी विरोध हुआ था. इसके बारे में बाल ठाकरे ने कहा था सानिया यदि भारत के लिए खेलना चाहती हैं तो उन्हें किसी भारतीय को ही अपना जीवनसाथी चुनना होगा और यदि सानिया ने शोएब से ब्याह किया तो भारतीय नहीं रहेंगी, उनका दिल यदि हिंदुस्तानी होता तो किसी पाकिस्तानी के लिए नहीं धड़कता। साथ ही ठाकरे ने यहां तक कह दिया था कि सानिया अपने खेल की वजह से नहीं बल्कि अपने तंग कपड़ों, फैशन और प्रेम प्रसंगों की वजह से मशहूर हैं।

बाल ठाकरे के वो विवादिन बयान जिन पर हुआ था बहुत बवाल 3
मार्च 2010 में महाराष्ट्र के राज्यपाल के. शंकरनारायण ने कहा था कि मुंबई में कोई भी रह सकता है। इस पर बाल ठाकरे ने शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में लिखा था कि मुंबई धर्मशाला बन गई है, बाहरी लोगों को आने से रोकने का एकमात्र तरीका यही है कि परमिट सिस्टम लागू कर दिया जाए।

 

बाल ठाकरे के वो विवादिन बयान जिन पर हुआ था बहुत बवाल 4
पाकिस्तान के क्रिकेट खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग में शामिल करने की बात चली तो कोलकाता नाइट राइडर्स के मालिक शाहरुख खान ने इस बात का समर्थन किया था जिस पर बाल ठाकरे ने शाहरुख खान को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि, शाहरुख खान को ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ से नवाज़ा जाना चाहिए।

बाल ठाकरे के वो विवादिन बयान जिन पर हुआ था बहुत बवाल 5

ठाकरे लोकल मराठी लोगों के कट्टर समर्थक थे. जिसके लिए उन्होंने हमेशा से ही उत्तर भारतीय लोगों खासकर बिहार के लोगों का विरोध किया था. बाल ठाकरे के दौर में यूपी-बिहार के लोगों को ‘भईया’ कहकर पुकारा जाने लगा था। साल 2008 में उन्होंने पार्टी के मुखपत्र सामना में बिहारियों के लिए ‘गोबर का कीड़ा’ कहा था। साथ ही उन्होंने बिहारियों के लिए ‘एक बिहारी सौ बीमारी’ जैस का इस्तेमाल भी किया था।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here