डॉ. हाथी के पार्थिव शरीर की पहली तस्वीर आई सामने, कुछ ही देर में होगा अंतिम संस्कार!

0
638

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में डॉ. हाथी के नाम से मशहूर कवि कुमार आजाद का हार्टअटैक से निधन हो गया है। डॉ. हाथी लंबे समय से इस शो में जुड़े हुए थे। शो में उनका किरदार काफी पसंद किया जा रहा था। जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के मीरा रोड वॉकहार्ट हॉस्पिटल में उनका हार्टअटैक से निधन हो गया है। कवि के जाने से पूरी टीवी इंडस्ट्री में शोक का माहौल छाया हुआ है। डॉ. हाथी यानि एक्टर कवि कुमार आजाद के पार्थिव शरीर की पहली तस्वीर सामने आ गई है। पोस्टमार्टम के बाद अब डॉ. हाथी की डेड बॉडी उनके घर लाई गई है। पार्थिव शरीर के घर पहुंचते ही उनके फैंस और टीवी सितारों के आने का भी सिलसिला शुरू हो गया है।

बता दें, डॉ. हाथी की डेड बॉडी को मीरा रोड स्थित भारतरत्न इंदिरा गांधी हॉस्पिटल में रखा गया था। जब कवि कुमार का निधन हुआ उस वक्त उनके पेरेंट्स बिहार एक शादी में शऱीक होने गए थे। बेटे की डेडबॉडी देख आजाद के पिता और माता दोनों फूटफूटकर रो पड़े। उनकी अंतिम यात्रा और अंतिम संस्कार की कुछ तस्वीरें और वीडियोज सामने आए हैं। ये फोटोज देख आपकी आंखें भी नम हो जाएंगी। कवि के यूं दुनिया से अचानक अलविदा कहने का दुख हर किसी को है। कवि का परिवार उनके यूं चले जाने से सकते में हैं। अंतिम संस्कार की फोटो में आप देखेंगे की उनके परिवार की रो-रो कर क्या हालत हो गई है। उनकी आखिरी झलक पाने के लिए भारी संख्या में वहां फैंस मौजूद हैं।

कवि कुमार आजाद सिर्फ टीवी शो में ही नहीं बल्कि फिल्मों में भी नजर आ चुके हैं। कवि ने मेला और जोधा अकबर जैसी फिल्मों में काम किया है। उन्हें अपने नाम की तरह कविताएं लिखने का भी काफी शौंक था। कवि तारक मेहता का उल्टा चश्मा से शो शुरू होने के एक साल बाद जुड़े थे। और फिर लगातार पिछले 9 साल से शो का हिस्सा बने हुए हैं।

अपनी मौत से ठीक एक दिन पहले, 8 जुलाई 2018 को कवि कुमार आजाद ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक तस्‍वीर पोस्‍ट की। इसके साथ उन्‍होंने लिखा, किसी ने कहा है कल हो न हो, मैं कहता हूं पल हो न हो। हर लम्‍हा जी लो।’ ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को 10 साल पूरे हो चुके हैं। जुलाई 2008 से शुरू हुआ ये सीरियल टीवी की हिस्ट्री में सबसे लंबा चलने वाला पांचवा शो है। इस शो के अबतक करीब ढाई हजार एपिसोड टेलिकास्ट हो चुके हैं।