17 साल बाद अपने गाँव मलदिहा पहुंचे सुशांत सिंह, माँ की मनत की पूरी, कराया मुंडन!

0
525

दोस्तों बॉलीवुड फिल्म जगत के जाने माने सितारे सुशांत स‍िंह राजपूत वेसे तो आये दिन अपने अफेयर को लेकर चर्चाओ में बने रहते है लेकिन इन द‍िनों नीतेश त‍िवारी की फिल्म छ‍िछोरे की शूटिंग कर रहे हैं। जैसे ही फिल्म के शेड्यूल से सुशांत को वक्त मिला वो ब‍िहार के खगड़िया जिले के बोरने गांव पहुंच गए। यहां पर सुशांत के आने की वजह भी खास थी, क्यों‍कि एक्टर करीब 17 साल बाद यहां आए थे।

बता दे की ये उनका पैतृक गांव है। खबरों की मानी तो सुशांत की मां ने मन्नत मांगी थी कि बेटा ठीक रहेगा। अच्छा काम करेगा तो यहां माता के मंद‍िर में मुंडन करवाएंगी। हालांकि अब सुशांत की मां जीवित नहीं हैं। उनका निधन हो चुका है।सुशांत स‍िंह राजपूत की कई तस्वीरें और वीड‍ियो सोशल मीड‍िया पर वायरल हो रहे हैं। 

View this post on Instagram

 

The Pure Hearted person ever…[email protected] on his hometown… #Bihardiaries

A post shared by Sushant Singh Rajput🔘 (@its_sushantsinghrajput) on

इस बारे में सुशांत ने भी कहा, “मुझे मां से भी प्यार है और देवी मां से भी, इसल‍िए सब छोड़ककर मन्नत पूरी करने 17 साल बाद आया हूं।’सुशांत सोमवार को मुंडन कराने खगड़िया जिले के बोरने स्थित भगवती मंदिर पहुंचे थे, सुशांत ने मीड‍िया से बातचीत में कहा, “बिहार का हूं और बिहार के लिए कुछ करना चाहता हूं। इसके लिए प्रयास कर रहा हूं। सुशांत सिंह राजपूत ने लोगों से उनकी आने वाली फिल्म को जरूर देखने की गुजारिश भी की।’

सुशांत का पैतृक घर पूर्णिया जिले के बड़हरा कोठी के मल्डीहा गांव में है।  सुशांत सिंह राजपूत का स्वागत गांव में गाजे-बाजे के साथ किया गया। गांव प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर पहुंचकर सबसे पहले उन्होंने दर्शन किया। फिर ननिहाल स्थित घर में जाकर कुल देवी का आशीर्वाद लिया। उसके बाद फिर मंदिर पहुंचकर समाजिक और हिंदू रीति रिवाज से उनका मुंडन संस्कार किया गया। हालांकि उन्होंने पूरे बाल कटवाने की जगह परंपरा को पूरा करने के लिए थोड़े बालों को ही कटवाया। सालों से सुशांत व्यस्त रहने की वजह से अपने नन‍िहाल नहीं गए थे। अब ज‍ब एक्टर गांव पहुंचे तो उन्हें देखने वालों की भीड़ लग गई।