सलमान खान के बंगले पर क्राइम ब्रांच का छापा, वजह जानकर उड़ जायेंगे आपके होश!

0
227

दोस्तों बॉलीवुड फिल्म जगत के दबंग अभिनेता सलमान खान को लेकर चौकाने वाली खबर सामने आई है, बता दे की सलमान खान के बंगले पर बुधवार को क्राइम ब्रांच ने छापा मारा था, जहा से पुलिस ने एक वांटेड अपराधी को गिरफ्तार किया है। बता दे की पुलिस ने बुधवार को सलमान खान के बंगले से एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जिसे पिछले 29 साल से मुंबई पुलिस को तलाश थी।

सलमान खान के बंगले पर क्राइम ब्रांच का छापा, वजह जानकर उड़ जायेंगे आपके होश! 1

बता दे की एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, राणा और कुछ अन्य लोग चोरी के मामले में कथित रूप से संलिप्त थे, जिन्हें 1990 में अपराध शाखा ने हिरासत में लिया था।  हैरानी की बात यह है कि पकड़ा गया शख्स गोरई स्थित सलमान के बंगले की एक दशक से ज्यादा वक्त से देखरेख कर रहा था।

सलमान खान के बंगले पर क्राइम ब्रांच का छापा, वजह जानकर उड़ जायेंगे आपके होश! 2

बताया जाता है कि सलमान खान के गोराई स्थित बंगले से शक्ति सिद्धेश्वर राणा नाम के वांछित अपराधी को गिरफ्तार किया गया है। 62 साल के इस शख्स के सलमान खान के गोराई स्थित बंगले पर काम करने की सूचना मुंबई पुलिस को मिली थी। मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच की यूनिट 4 ने मुखबिर की सूचना के आधार पर सलमान खान के बंगले पर छापा मारा।

सलमान खान के बंगले पर क्राइम ब्रांच का छापा, वजह जानकर उड़ जायेंगे आपके होश! 3

पुलिस का कहना है कि वह पिछले 15 साल से सलमान खान के घर में काम कर रहा था। 1990 में पुलिस ने सिद्धेश्वर राणा और दो अन्य आरोपियों को चोरी के मामले में गिरफ्तार किया था लेकिन जमानत पर छूटने के बाद वे फरार हो गए थे। कई साल से सेशंस कोर्ट उसके खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी कर रही थी लेकिन पुलिस उसका पता नहीं लगा सकी। वर्ली में अपने घर पर वह कभी पुलिस को नहीं मिला।

सलमान खान के बंगले पर क्राइम ब्रांच का छापा, वजह जानकर उड़ जायेंगे आपके होश! 4

बताया जा रहा है कि सिद्धेश्वर राणा पिछले 29 साल से अपनी पहचान छिपाकर रह रहा था। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच ने सलमान के बंगले की तलाशी ली और आरोपी को धर दबोचा। इस मामले में आरोप है कि सिद्धेश्वर समेत तीन लोगों ने वर्ली में एक शख्स के घर में जबरन घुसकर लोगों की पिटाई की थी और इसके बाद लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था। राणा के खिलाफ आईपीसी की धारा 452 (गलत इरादे से किसी के घर में घुसकर हमला), 394 (चोरी करते हुए किसी को नुकसान पहुंचाना) और 397 (किसी की जान लेने या गंभीर चोट पहुंचाने की कोशिश करते हुए चोरी या डकैती) के तहत केस दर्ज है।