Thursday, June 30, 2022
HomeHindiनीलम कोठारी से शादी करना चाहते थे गोविंदा , नीलम के लिए...

नीलम कोठारी से शादी करना चाहते थे गोविंदा , नीलम के लिए तोड़ दी थी सुनीता से सगाई!

दोस्तों बॉलीवुड के हीरो नंबर वन रहे गोविंदा 80 और 90 के दशक में जिस फिल्म को हाथ लगाते थे, वो बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर हो जाती थी। गोविंदा ने जबरजस्त कॉमेडी के साथ दमदार एक्शन और डांस से अपनी अलग पहचान बनाई है। गोविंदा का जन्म 21 दिसंबर 1963 को मुंबई में हुआ था। गोविंदा को पहली फिल्म इल्जाम के जरिए लांच किया गया। इस फिल्म में उनके साथ नीलम कोठारी थीं। दोनों ने कई फिल्में साथ कीं। एक समय पर उनका नाम अभिनेत्री नीलम से भी जुड़ा। कहा तो ये तक जाता है कि गोविंदा ने नीलम के लिए अपनी सगाई तक तोड़ दी थी।

कहा जाता है नीलम और गोविंदा के साथ लंबा अफेयर रहा लेकिन सुनीता वो लड़की थी जिसे गोविंदा पहली नजर में ही प्यार करने लगे थे। लेकिन जब वो नीलम से मिले तो उनसे प्यार कर बैठे। एक इंटरव्यू में गोविंदा ने बताया था, ‘मैं घर पर भी नीलम की बातें किया करता था। यहां तक कि सुनीता के संग रिश्ता जुड़ जाने के बाद मैं उससे नीलम जैसा बनने के लिए कहता था। मैं सुनीता से कहता कि तुम्हें नीलम से सीखना चाहिए। इस बात से सुनीता परेशान हो जाती थी। एक दिन सुनीता ने नीलम के लिए कुछ कह दिया इस बात से मैं इतना ज्यादा अग्रेसिव हो गया कि मैं सुनीता के संग अपनी सगाई तोड़ दी थी।’

गोविंदा ने बताया था, ‘मेरे पिता भी चाहते थे कि मैं नीलम से शादी करुं क्योंकि वह उसे बहुत पसंद करते थे। लेकिन मेरी मां का मानना था कि मैंने सुनीता को अपनी जुबान दी है जिसे उसे पूरा करना चाहिए।’ नीलम से अलग होने के बाद गोविंदा ने सुनीता से लव मैरिज कर ली। लेकिन एक साल तक उन्होंने इस शादी को छिपाए रखा क्योंकि उन्हें लगता था कि शायद इससे उनकी लोकप्रियता पर असर पड़ेगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं था। दोनों की मुलाकात भी किसी फिल्म की स्क्रिप्ट से कम नहीं थी।

बता दे की गोविंदा को इस बात का हमेशा दुख रहा है कि उन्होंने सुनीता के साथ शादी को सबसे छिपाकर रखा। इसके बाद उन्होंने अपनी 25वीं सालगिरह पर सुनीता से दोबारा शादी की और शादी की सभी रस्में निभाईं ये उनकी मां की भी इच्छा थी कि वो अपने बेटे को सात फेरे लेते हुए देखें और गोविंदा ने ये इच्छा पूरी भी की। 90 के दशक में गोविंदा इतने बड़ स्टार बन गए कि उनके पास एक समय पर  70 फिल्में थीं। डेट्स न होने की वजह से उन्हें कई फिल्में छोड़नी पड़ीं। ‘हीरो नंबर वन’, ‘हसीना मान जाएगी’, ‘दीवाना मस्ताना’, ‘कुली नंबर वन’, ‘साजन चले ससुराल’, ‘हद कर दी आपने’, ‘शोला और शबनम’…, गोविंदा 90 के दौर की हिट मशीन थे। अपने करियर में गोविंदा ने करीब 165 फिल्मों में काम किया। 11 बार उन्हें फिल्म फेयर अवार्ड का नॉमिनेशन मिला।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments