Thursday, August 11, 2022
HomeHindiदयाबेन और नटूकाका के बिना खत्म होगा तारक मेहता का उल्टा चश्मा?...

दयाबेन और नटूकाका के बिना खत्म होगा तारक मेहता का उल्टा चश्मा? डायरेक्टर की पत्नी प्रिया आहूजा ने दी प्रतिक्रिया!

तारक मेहता का उल्टा चश्मा निस्संदेह भारतीय टीवी पर सबसे लोकप्रिय शो में से एक है। शो को काम करते हुए अब 12 साल से ज्यादा हो गए हैं और उसी का रिस्पॉन्स हमेशा से बहुत ही प्यारा रहा है। दिलीप जोशी, मुनमुन दत्ता और शैलेश लोढ़ा सहित कास्ट ने शो की सफलता को वास्तव में फैशनेबल पोस्ट दिया और अच्छी तरह से, हमें दिशा वकानी की दयाबेन और घनश्याम नायक की नटू काका सहित अभिनेताओं के बीच भी विदा करना पड़ा। अब दिशा और नायक के बिना हो रहे शो पर निर्देशक की पत्नी और एक्ट्रेस प्रिया आहूजा ने रिएक्ट किया है।

 

समय के साथ प्रशंसकों ने शो के सभी पात्रों और कहानी को सकारात्मक तरीके से पसंद किया है, लेकिन हाल ही में नेटिज़न्स ने टीएमकेओसी को नीरस होने के लिए नारा दिया है। फैंस को अब ऐसा लग रहा है कि जैसे मेकर्स शो को आगे बढ़ा रहे हैं और बोरिंग हो गए हैं। पिछले काफी समय से मेकर्स ने भी शो में दिशा के किरदार की वापसी पर कोई कमेंट नहीं किया है।

 

ईटाइम्स के साथ बातचीत में, तारक मेहता का उल्टा चश्मा पर रीटा रिपोर्टर का किरदार निभाने वाली प्रिया आहूजा ने शो छोड़ने वाले पुराने अभिनेताओं के वास्तविक तथ्य पर खुल कर बात की और क्या इससे दिशा वकानी और घनश्याम नायक सहित शो की टीआरपी पर असर पड़ा है। आपको बता दे की रीटा रिपोर्टर का किरदार निभाने वाली प्रिया आहूजा तारक मेहता शो के डायरेक्टर की पत्नी है। प्रिया आहूजा ने कहा, “ज़रूर, दर्शकों का एक निश्चित हिस्सा हो सकता है जो आपके द्वारा बताए गए पात्रों के प्रति पूरी तरह से वफादार हैं। हालांकि मैं अब भी मानती हूं कि ‘टीएमकेओसी’ के प्रति वफादारी इसके 90 प्रतिशत दर्शकों के लिए पर्याप्त है कि वे खुद को कार्यवाही से जोड़े रखें।”

 

एक्ट्रेस ने टीआरपी के बारे में भी बात की और कहा, “मैंने कभी टीआरपी के खेल को नहीं समझा है लेकिन मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कि ‘टीएमकेओसी’ ने अपनी चाल चली है। टीआरपी में उतार-चढ़ाव मुख्य रूप से इसलिए हो सकता है क्योंकि लोग इन दिनों केवल टीवी धारावाहिकों के अलावा बहुत सी अन्य चीजें देख रहे हैं, और इसलिए वे राष्ट्रीय टीवी पर अपने निर्धारित समय पर टीवी नहीं देखते हैं; उनके पास ऐप्स पर जाने की प्रवृत्ति होती है और उन खुलासे का प्रायश्चित करते हैं जो वे नियत समय पर चूक गए थे।”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments